क्यों भारत हारा विश्व कप 2023 फाइनल, जानिये इसके 8 कारण – बेमेल रणनीति, मिडिल ऑर्डर में गिरावट और बहुत कुछ

रविवार को राष्ट्रीय क्रिकेट टीम को ऑस्ट्रेलिया के सामने हार का सामना करना पड़ा। ऑस्ट्रेलिया, जिन्होंने अब तक विश्व कप छह बार जीता है, ने छह विकेटों से जीत हासिल की जब खेल में सात ओवर शेष थे। टीम ने सेमी-फाइनल में दक्षिण अफ्रीका को हराया जबकि भारत ने न्यूजीलैंड को हराया और फाइनल में पहुंचा।

मैच को पश्चिमी गुजरात के सबसे बड़े स्टेडियम में खेला गया था। क्रिकेट भारत में सबसे लोकप्रिय खेल है और नरेंद्र मोदी स्टेडियम में 100,000 से अधिक फैन्स ने टीम को प्रेरित करने के लिए आगाज़ किया। जो लोग अहमदाबाद नहीं जा सके, वे अपने घरों से ही मैच देख रहे थे, उम्मीद थी कि भारत ट्रॉफी उठाएगा। भारत ने अंतिम बार 2011 में विश्व कप जीता था।

लेकिन करोड़ों भारतीयों की आशाएं ऑस्ट्रेलिया ने भारत को हराकर छुड़ा दी और हजारों ने सोशल मीडिया पर अपनी निराशा व्यक्त की।ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वन-डे विश्व कप का फाइनल भारत कई कारणों से जीतने में असमर्थ रहा, जिसमें अहमदाबाद की धीमी और सूखी पिच की स्थिति, ऑस्ट्रेलियाई टीम की योजना और क्रिकेटरों की कमी का सामना करना पड़ा।

image 96 क्यों भारत हारा विश्व कप 2023 फाइनल, जानिये इसके 8 कारण - बेमेल रणनीति, मिडिल ऑर्डर में गिरावट और बहुत कुछ

भारत को वन-डे विश्व कप के लिए और चार साल तक रुकना पड़ेगा। वर्तमान टीम के कई सदस्य 2027 में भारत के स्क्वाड का हिस्सा नहीं हो सकते हैं। आइए देखते हैं कि भारतीय प्रतिद्वंद्वियों के सामने क्या कारण थे जो उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीतने में विफल कर दिए।

1. बेमेल रणनीति

अहमदाबाद की पिच, जो अपेक्षा से अधिक धीमी और सूखी थी, ने इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। भारत की रणनीति अच्छी तरह से अनुकूल नहीं रही, खासकर दूसरी पारी में जब पिच की स्थिति बदल गई, और स्लोवर नेचर का लाभ अपने पक्ष में करने में विफल रही।

2. ऑस्ट्रेलियाई टीम की योजना में माहिरी

ऑस्ट्रेलियाई टीम की योजना और क्रियान्वयन सही थे। उन्होंने भारत की प्रारंभिक रुझान के बाद भी शांति बनाए रखी, जिसमें कप्तान पैट कमिंस ने रणनीतिक गेंदबाजी परिवर्तन किए जो भारतीय बैटर्स को नियंत्रित करते रहे।

3. अधूरी शॉट सिलेक्शन और फ़ील्डिंग

रोहित शर्मा और विराट कोहली, दोनों ही अच्छे शुरुआतों के बाद खराब शॉट सिलेक्शन के शिकार हो गए। भारत की फ़ील्डिंग और अतिरिक्त रन ऑस्ट्रेलिया की असाधारण फ़ील्डिंग के साथ तीव्रता से भिन्न थी, जिससे भारतीय टीम पर दबाव बढ़ा।

4. बड़े साझेदारी बनाने में असमर्थता

भारत की असमर्थता कुशल साझेदारियों को बनाने में स्पष्ट थी। विराट कोहली और केएल राहुल के बीच एक पार्टनरशिप में हाफ-सेंचुरी छोड़कर, वहां कोई महत्वपूर्ण सहयोग नहीं था, जिससे भारत की कुल सीमा को कम किया।

5. मिडिल ऑर्डर में गिरावट

भारत का मिडिल ऑर्डर, जो सामान्यत: बहुतंत्र में विश्वसनीय होता है, एक महत्वपूर्ण समय पर असफल रहा। श्रेयस अय्यर और सुर्यकुमार यादव जैसे मुख्य खिलाड़ी योगदान नहीं कर सके, और केएल राहुल की धीमी गेंदबाजी चिंता को बढ़ा दी।

6. पिच की स्थितियों में ऑस्ट्रेलिया का पक्ष लेना

फाइनल की धीमी पिच, जिसे विशेषज्ञों ने आलोचना की, भारत के खिलाफ काम करने लगी। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बोलिंग करने का निर्णय लिया जिसने पिच की बदलती प्रकृति का उपयोग किया, जो खेल के प्रगति के साथ और बैटिंग-फ्रेंडली बन गई।

7. शुभमन गिल का दमदार प्रदर्शन नहीं हुआ

एक धीमी पिच पर बैट करने के लिए, भारतीय ओपनर ने बैटिंग में कठिनाई का सामना किया। रोहित शर्मा ने एक सिरे से बैट की, लेकिन शुभमन गिल ने फाइनल में भारत को मजबूत शुरुआत नहीं दी। एक मजबूत ओपनिंग पारी टीम के पिछले 10 मैचों के अनबीटन दौर का सफल सूत्र था।

ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ ने मौसम को अच्छे से पढ़ा, धीमी डिलिवरी का उपयोग करके भारतीय बैटर्स को शॉट्स खेलने से पहले रोकने का प्रयास किया। गिलजल्दी ही बाहर हो गए, और स्कोरिंग पर कोई प्रमुख प्रभाव नहीं डाल सके। उसी तरह, रोहित शर्मा ने पहले इनिंग्स के प्रारंभिक चरण में मिचेल स्टार्क और जोश हेजलवुड के खिलाफ हमला बनाए रखना जारी रखा, लेकिन वे ग्लेन मैक्सवेल द्वारा बाहर किये गए।

8. ड्यू कारक

ड्यू ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिससे भारतीय स्पिनर्स की प्रभावकारिता में कमी हुई। भीगी गेंद के कारण टर्न की कमी ने ऑस्ट्रेलियाई बैटर्स, विशेषकर ट्रैविस हेड और मार्नस लाबुशेन, को एक महत्वपूर्ण साझेदारी बनाने की अनुमति दी।

इसे भी पढ़े : योगी सरकार का क्रिकेटर मोहम्मद शमी के लिए एक अनूठा तोहफा, विश्व कप फाइनल से पहले अचानक हुआ ऐलान

इसे भी पढ़े : Railway News: त्योहारों में प्लेटफ़ॉर्म पर भारी भीड़, 2027 तक हर यात्री को कन्फर्म टिकट मिलने की संभावन, जानें क्या है रेलवे की योजना?


Fatal error: Uncaught TypeError: call_user_func_array(): Argument #1 ($callback) must be a valid callback, function "placeholder_comment_form_field" not found or invalid function name in /home/u543982711/domains/pmvishwakarmayojana.com/public_html/wp-includes/class-wp-hook.php:310 Stack trace: #0 /home/u543982711/domains/pmvishwakarmayojana.com/public_html/wp-includes/plugin.php(205): WP_Hook->apply_filters() #1 /home/u543982711/domains/pmvishwakarmayojana.com/public_html/wp-includes/comment-template.php(2648): apply_filters() #2 /home/u543982711/domains/pmvishwakarmayojana.com/public_html/wp-content/themes/generatepress_child/comments.php(43): comment_form() #3 /home/u543982711/domains/pmvishwakarmayojana.com/public_html/wp-includes/comment-template.php(1615): require('/home/u54398271...') #4 /home/u543982711/domains/pmvishwakarmayojana.com/public_html/wp-content/themes/generatepress/inc/structure/comments.php(227): comments_template() #5 /home/u543982711/domains/pmvishwakarmayojana.com/public_html/wp-includes/class-wp-hook.php(310): generate_do_comments_template() #6 /home/u543982711/domains/pmvishwakarmayojana.com/public_html/wp-includes/class-wp-hook.php(334): WP_Hook->apply_filters() #7 /home/u543982711/domains/pmvishwakarmayojana.com/public_html/wp-includes/plugin.php(517): WP_Hook->do_action() #8 /home/u543982711/domains/pmvishwakarmayojana.com/public_html/wp-content/themes/generatepress/inc/theme-functions.php(578): do_action() #9 /home/u543982711/domains/pmvishwakarmayojana.com/public_html/wp-content/themes/generatepress/single.php(29): generate_do_template_part() #10 /home/u543982711/domains/pmvishwakarmayojana.com/public_html/wp-includes/template-loader.php(106): include('/home/u54398271...') #11 /home/u543982711/domains/pmvishwakarmayojana.com/public_html/wp-blog-header.php(19): require_once('/home/u54398271...') #12 /home/u543982711/domains/pmvishwakarmayojana.com/public_html/index.php(17): require('/home/u54398271...') #13 {main} thrown in /home/u543982711/domains/pmvishwakarmayojana.com/public_html/wp-includes/class-wp-hook.php on line 310